Posts Tagged ‘coming of age’

काश

Posted: October 19, 2016 in Poems about Love
Tags: , , , ,

थोड़ी बातें तेरी,

थोड़ी बातें मेरी,

काश यूँ होती ज़िन्दगी,

थोड़ी दिन तेरे,

थोड़ी राते मेरी,

काश यूँ होती ज़िन्दगी ।

तेरे मेरे रंगो को,

ऐसे हम मिलाते,

कितने रंग बनाते,

संग में,

पर अब अपने रंग ही,

इतने हैं गहरे,

कि अब कोई रंग ना बने,

तो हम बेरंग ही सही ।

थोड़ी बातें तेरी,

थोड़ी बातें मेरी,

काश यूँ होती ज़िन्दगी,

थोड़ी दिन तेरे,

थोड़ी राते मेरी,

काश यूँ होती ज़िन्दगी ।

बाँसी बाँसी यादें,

सपनो में ताज़ी,

राज़ी पर हक़ीक़त,

ही नहीं,

आँखों के पीछे,

दिखती है ख़ुशियाँ,

आँखों के आगे,

तो नहीं,

ये आँखें फिर बंद ही सही ।

थोड़ी बातें तेरी,

थोड़ी बातें मेरी,

काश यूँ होती ज़िन्दगी,

थोड़ी दिन तेरे,

थोड़ी राते मेरी,

काश यूँ होती ज़िन्दगी ।

Advertisements